Daesh News

पुलिस वर्दी का रौब, 3 PSI ने अपने ही थाने के बुजुर्ग ASI को पीट दिया..

Patna-खबर राजधानी पटना से है जहां वर्दी का रौब दिखाते हुए गांधी मैदान थाना के तीन PSI ने अपने ही थाना के एएसआई(ASI) की जमकर पिटाई कर दी.आरोपी तीनों पीएसआई पर पहले भी कई तरह के गंभीर आरोप लगा चुके हैं.पीड़ित एएसआई ने थाने में आवेदन देकर न्याय की गुहार लगाई है.

 मिली जानकारी के अनुसार गांधी मैदान थाने के तीन पीएसआइ अविनाश, पंकज और राहुल ने मिलकर एक वृद्ध एएसआइ भोला शर्मा को टीओपी में बंद कर के बेरहमी से पिटायी कर दी है. तीनों ने वृद्ध को इतना पीटा कि उसे पीएमसीएच में भर्ती होना पड़ा.पिटाई के कारण वृद्ध के छाती में और सिर में चोट लगी है. सिटी स्कैन में भी चोट की पुष्टि हुई है. इस संबंध में ASI भोला शर्मा ने बताया कि वह बार-बार बोल रहे थे कि छोड़ दीजिए सर...लेकिन तीनों ने इतना मारा कि उसके छाती में दर्द होने लगा. दर्द बढ़ता देख जब वह बेहोश होने लगा तब तीनों वहां से भाग गये. इसके बाद जैसे-तैसे वे पीएमसीएच पहुंच गये. जहां डॉक्टरों ने उन्हें भर्ती कर छाती और सिर का स्कैन किया. उन्होंने अपना पुर्जा दिखाया और गांधी मैदान थाने में देने के लिए आवेदन लिखा है. उन्होंने बताया कि अविनाश पीएमसीएच आया और कहा कि अगर शिकायत की तो नौकरी से हाथ धो बैठोगे. तुम्हारी थाने तक ही पहुंच है और हम मुख्यालय के पुलिस अधिकारियों तक संपर्क बनाकर रखे हैं.

लड़की का सामान खोजना पड़ा भारी

दरअसल एक लड़की का टेंपो पर सामान छूट गया. वह टीओपी आयी तो भोला शर्मा उसे लेकर कैमरा देखने चले गये. इस बात की जानकारी जैसे ही अविनाश को हुई वह आया और फोन कर एएसआइ भोला को बुलाया. उसने कहा कि लड़की का बैग टेंपो में छूट गया है उसी का सीसीटीवी कैमरा देख रहे हैं. जब भोला वापस टीओपी पर आये तो अविनाश पहले टीओपी में ले गया और इसके बाद गाली-गलौज शुरू कर दिया. इतना ही नहीं इसके बाद पीएसआइ राहुल और पंकज भी आ गया और तीनों ने मिलकर एएसआइ भोला की जमकर पिटायी कर दी.

पहले से चल रही विभागीय जांच

इससे पहले फरवरी में एक झारखंड की यौन शोषण पीड़ित युवती के साथ इसी तीनों पीएसआइ अविनाश, राहुल और पंकज ने थाने में तीन दिन तक रोक बदसलूकी की थी. यही नहीं उसे चरित्रहीन घोषित करने, परिवार को जेल भेजने और झूठे केस में फंसाने की धमकी दी थी. एक महिला सिपाही से पिटाई भी करवायी थी. इस मामले में पीड़िता द्वारा थाने में तीनों के खिलाफ आरोप भी लगाया था, लेकिन तीनों पर केस नहीं हुआ. हालांकि इस मामले में विभागीय जांच चल रही है. जल्द ही रिपोर्ट भी आना है.

गांजा बिकवाने का भी लगाया आरोप

घायल एएसआइ ने बताया कि निरंजन क्विक मोबाइल की मदद से गांधी मैदान अविनाश, राहुल और पंकज गांजा की बिक्री करवाता है. इस बात का जब एक अन्य टीओपी के एक अन्य एएसआइ ने विरोध किया तो उसपर भी अविनाश ने पिस्टल तान दिया और गाली-गलौज कर टीओपी से भगा दिया. पीएसआइ अविनाश पर पूरे दिन सिविल में घूमने और बात-बात पर पिस्टल निकालने की भी शिकायत थानेदार को मिली है.

Scan and join

Description of image