Daesh News

भतीजे को पकड़ने आए पुलिस अधिकारी की डांट से चाचा जी स्वर्ग सिधार गए..

Danapur- पटना से सटे शाहपुर थाना क्षेत्र में एक अजीबोगरीब मामला सामने आया है. एक लूट के मामला मे भतीजा को गिरफ्तार  करने गई पुलिस के डर से चाचा की हार्ट अटैक से मौत हो गई.

 मृतक महेंद्र के पुत्र संजीत कुमार ने बताया कि आधी रात में एकाएक पुलिस घर में घुस गई, जोर जोर से दरवाजा पिटने लगी, पूछने से जोर जबर्दस्ती गाली गलौज करने लगी जिसकी वजह से उनके पिताजी का हार्ट अटैक हो गया और उनकी मृत्यु हो गई. वे कैंटोमेट में नौकरी करते थे . 2017 मे रिटायर हुए थे. हार्ट के पेसेंट थे..

 संजीत ने आगे बताया की पुलिस कानून ने काफी बुरा बर्ताव किया.मेरा भाई जो की बीएसएफ मे कार्यरत  है जब वह पूछा कि  क्या बात  है  उसके बाद भी पुलिस कुछ नही बता रही थी  हमारे  चाचा राजीव के दो बेटा पंकज और गुडू को पकड़ लिया.रिवाल्वर सर पे तान  दिया और  पकड़ कर दानापुर थाना ले गया और बोला गया कि दानापुर थाना आओ सब बताते है

 मृतक की बेटी संगीता देवी  ने बताया कि मेरे घर में सब लोग खापी के सो गए थे.रात  के करीब तीन बजे  पुलिस एकाएक आई और पूरा दरवाजा पीटने लगे दरवाजा खुलते ही हम  पूछे कि क्या हुआ बताइए तो बोले कि सब पता चल जाएगा  जबरदस्ती घर में घुस गए हैं और  गाली गलौज करने लगे कुछ भी बता नहीं रहे थे मेरे पिता को धकेल दिया नाक से खून गिरने लगा अस्पताल ले जाने के दौरान निधन हो गया.

 इस घटना के बाद दानापुर एएसपी दीक्षा खुद माफी तक पहुंची और परिजनों से बात की. मीडिया से बात करते हुए AS दीक्षा ने कहा कि   सूचना सुबह मिली कि  एक वृद्ध पुरुष की हार्ट अटैक के कारण मृत्यु हो गई है और कहा जा रहा था की पुलिस  रेड के आसपास ही ऐसा हुआ तो उसी की जांच करने के लिए यहां पर आये है परिजनों से बात की गई है स्पष्ट हो रहा है कि जो एक लूट कांड में उनके  एक भतीजे का नाम आया था उसको अरेस्ट करने के क्रम में उनके परिवार के एक सदस्य की हार्ट अटैक हुआ इसकी वजह से  मृत्यु हो गई .लूट मे इंवॉल्वमेंट डायरेक्ट दिखाई दे रहा रहा था इस लिए पुलिस दो लोगों पंकज और गुड्डू को पकड़ कर दानापुर थाना ले गई है पूछ ताछ  जारी है.

Scan and join

Description of image