Daesh News

पाकिस्तान की नापाक हरकत: जम्मू के अरनिया सेक्टर में फायरिंग में दो BSF जवान घायल

जम्मू-कश्मीर के अरनिया सेक्टर में पाकिस्तान की तरफ से सीजफायर का उल्लंघन हुआ है. इसमें बीएसएफ के दो जवान घायल हुए हैं, जिनका इलाज जारी है. पाकिस्तान की फायरिंग का भारत की तरफ से भी मुंहतोड़ जवाब दिया गया.

दरअसल, भारत-पाकिस्तान बॉर्डर पर मंगलवार को पाक रेंजर्स की तरफ से फायरिंग की गई. जिसमें दो BSF जवान घायल हो गए. BSF (बॉर्डर सिक्योरिटी फोर्स) PRO के मुताबिक, यह घटना इंटरनेशनल बॉर्डर पर सुबह 8:15 बजे की है. घायल BSF जवानों को अस्पताल में एडमिट कराया गया है. इसके बाद अरनिया सेक्टर में तैनात भारतीय जवानों ने भी जवाबी फायरिंग की. 

बता दें कि 2021 में दोनों देशों के बीच हुए शांति समझौते के बाद सीज फायर उल्लंघन की यह पहली घटना है.

बिजली के खंभे पर चढ़कर लाइट ठीक कर रहे थे जवान, तभी गोली लगी

सेना के अधिकारियों ने बताया, BSF के दो जवान बिजली के खंभे में चढ़कर लाइट ठीक कर रहे थे तभी पाकिस्तानी रेंजर्स ने गोली चला दी. यह इलाका बॉर्डर से करीब 60 मीटर और सीमा चौकी विक्रम से करीब 1500 मीटर की दूरी पर है.

भारत-पाकिस्तान के बीच 2021 में युद्धविराम का समझौता हुआ

भारत और पाकिस्तान ने 25 फरवरी, 2021 को युद्धविराम समझौते पर हस्ताक्षर किए थे. दोनों देशों ने घोषणा की कि वे जम्मू-कश्मीर और अन्य क्षेत्रों में नियंत्रण रेखा (LoC) पर युद्धविराम पर सभी समझौतों का सख्ती से पालन करेंगे. तब इस्लामाबाद और नई दिल्ली में जारी एक संयुक्त बयान में इसका ऐलान किया गया था.

पाकिस्तान ने कब-कब किया युद्धविराम का उल्लंघन

भारत और पाकिस्तान ने शुरुआत में 2003 में युद्धविराम समझौते पर हस्ताक्षर किए थे, लेकिन पाकिस्तान समझौते का उल्लंघन करता आया है. 2020 में 5,000 से ज्यादा बार गोलीबारी की घटना हुई, जो एक साल में सबसे ज्यादा थी.

2021 में युद्धविराम की घोषणा से पहले, पाकिस्तान ने LoC और इंटरनेशनल बॉर्डर पर गोलाबारी की थी, जिससे भारत में बॉर्डर के पास के स्कूलों, स्वास्थ्य केंद्रों और धार्मिक स्थानों को नुकसान पहुंचा था.

2018-2020 में पाकिस्तान ने 10,752 बार सीजफायर तोड़ा

फरवरी 2021 में लोकसभा में एक प्रश्न के लिखित उत्तर में, केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी ने कहा कि 2018, 2019 और 2020 में पाकिस्तान के साथ भारत की सीमा पर संघर्ष विराम उल्लंघन के कुल 10,752 मामले हुए थे. जिसमें 364 सुरक्षाकर्मी और 341 नागरिक घायल हुए.

भारत-पाकिस्तान के बीच 3,323 KM लंबी बॉर्डर

भारत-पाकिस्तान के बीच 3,323 किलोमीटर लंबी बॉर्डर है जिसमें से 221 किलोमीटर अंतरराष्ट्रीय सीमा और 740 किलोमीटर एलओसी जम्मू-कश्मीर में आती है.

भारत-पाकिस्तान की सबसे लंबी इंटरनेशनल बॉर्डर जैसलमेर से लगता है. इस बॉर्डर की लंबाई 471 किलोमीटर के करीब है। पहली बॉर्डर पोस्ट फतूवाला और आखिरी बॉर्डर पोस्ट रायथनवाला है. जैसलमेर की रेतीली धरती पर BSF भीषण गर्मी में लू के थपेड़ों को भी झेलती है. सरहद पर गर्मियों में तापमान जब 50 डिग्री से भी ऊपर चला जाता है, उस दौरान भी ये जवान तेज अंधड़ में भी मजबूती के साथ सरहद पर नजर आते हैं.