Daesh News

दरिंदगी के दर्द से सदमे में है मासूम, होश में आने के बाद मां को पुकार रही

इंदौर. उज्जैन में मासूम के साथ हुई हैवानियत ने पूरे देश को झकझोर कर रख दिया है. बच्ची को इलाज के लिए इंदौर के एमटीएच अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां उसे होश आ गया है. जानकारी के मुताबिक, जब से बच्ची को होश आया है, वह तब से अपनी मां को याद कर रही है. मिली जानकारी के मुताबिक, दुष्कर्म और क्रूरता से पीड़ित 12 वर्षीय पीड़िता जिस समय लोगों से मदद की गुहार लगा रही थी, उस समय वह खून में लथपथ थी और मरने की कगार पर थी, लेकिन कोई उसकी मदद के लिए आगे नहीं आ रहा था और उसे भगा दे रहे थे.

दरिंदगी के दर्द से सदमे में बच्ची

बताया जा रहा है कि पीड़िता के निजी अंगों पर काफी गंभीर चोटें हैं, उसकी हालत इतनी नाजुक थी कि अगर इलाज नहीं कराते, तो शायद उसकी जान चली जाती. फिलहाल, डॉक्टरों ने समय रहते उसका ऑपरेशन कर दिया है और उसके ठीक होने की उम्मीद भी है. हालांकि, अपने साथ हुई दरिंदगी के कारण बच्ची अब भी गहरे सदमे और पीड़ा में है.

मां को जोर-जोर से पुकार रही बच्ची

बच्ची को जब भी उसे होश आ रहा है, वो केवल अपनी मां को याद कर रही है और उन्हें पुकार रही है. बच्ची की मानसिक स्थिति अभी ठीक नहीं है, वह होश में आने के बाद अपने स्कूल की यूनिफॉर्म मांग रही है, जो दुष्कर्म के समय पहनी हुई थी. बच्ची के परिवार ने उसे मानसिक रूप से अस्थिर बताया है.

पंडित ने की थी मदद

उल्लेखनीय है कि उज्जैन में कुछ दिन पहले 12 साल की बच्ची के साथ दुष्कर्म हुआ था. जिसके बाद वह उज्जैन की गलियों में खून से लथपथ अर्धनग्न हालत में मदद मांगती हुई घूम रही थी, लेकिन कोई इसकी मदद नहीं कर रहा था. बाद में एक पंडित ने बच्ची को कपड़े दिए और पुलिस को इसकी सूचना दी.

आरोपी रिक्शा चालक गिरफ्तार

बाद में पुलिस ने हजारों सीसीटीवी कैमरे और जांच के बाद भरत सोनी नाम के रिक्शा चालक को गिरफ्तार कर लिया है. बच्ची की गुमशुदगी की रिपोर्ट सतना के थाने में दर्ज की गई थी. फिलहाल, बच्ची को इलाज के लिए इंदौर के एमटीएच अस्पताल में रखा गया है.