Daesh News

संसद की सुरक्षा में बड़ी चूक, धुआं-धुआं सदन...रोंगटे खड़े कर देने वाला है लोकसभा का ये मंजर

संसद की सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला सामने आया है. लोकसभा की कार्यवाही के दौरान दो युवक दर्शक दीर्घा से कूद गए. ये दोनों शख्स एक बेंच से दूसरे बेंच पर भागने लगे. तभी एक शख्स ने जूते से निकालकर कोई पीले रंग की गैस स्प्रे कर दी. कार्यवाही में मौजूद सांसदों के मुताबिक, दोनों युवकों के हाथ में टियर गैस कनस्तर था. हालांकि, इन्हें सांसदों ने पकड़ लिया और सुरक्षाकर्मियों के हवाले कर दिया. लोकसभा की कार्यवाही को 2 बजे तक स्थगित कर दिया गया. 

कार्यवाही में मौजूद सांसदों ने बताया कि शून्यकाल में बीजेपी सांसद खरगेन मुर्मू बोल रहे थे तभी एक व्यक्ति दर्शक दीर्घा से कूदा गया. वह पहले बैरियर से लटका और फिर सदन के अंदर छलांग लगा दी. इसके बाद दूसरा शख्स भी उसके पीछे सदन में कूद गया. संसद में अफरा तफरी मच गई. कुछ सांसद अनहोनी की आशंका से बाहर भागने लगे. कुछ सांसदों ने दोनों युवकों को पकड़ लिया. इसी बीच संसद के सुरक्षाकर्मी आ गए और दोनों को हिरासत में ले लिया. इन्हें संसद मार्ग पुलिस स्टेशन ले जाया गया है. दिल्ली पुलिस की एंटी टेरर यूनिट स्पेशल सेल पार्लियामेंट के अंदर हंगामा करने वाले लोगों से पूछताछ करने पहुंच गई है.

बताया जा रहा है कि जो दो लोग कार्यवाही के दौरान घुसे, उनमें एक का नाम सागर है. दोनों सांसद के नाम पर लोकसभा विजिटर पास पर आए थे. सांसद दानिश अली ने बताया कि दोनों लोग मैसूर से बीजेपी सांसद प्रताप सिम्हा के नाम पर लोकसभा विजिटर पास से आए थे. 

शून्य काल के दौरान घुसे शख्स

कांग्रेस सांसद अधीर रंजन चौधरी ने कहा, जब शून्यकाल चल रहा था, दो युवक दर्शक गैलरी से कूदे और उनके द्वारा कुछ फेंका गया, जिससे गैस निकल रही थी. उन्हें सांसदों ने पकड़ लिया, सुरक्षाकर्मियों ने उन्हें बाहर निकाला. सदन दोपहर 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया. यह निश्चित रूप से एक सुरक्षा उल्लंघन है क्योंकि आज हम उन लोगों की पुण्य तिथि मना रहे हैं, जिन्होंने 2001 में अपने प्राणों की आहुति दी थी.  

कांग्रेस सांसद कार्ति चिदंबरम ने कहा, अचानक करीब 20 साल के दो युवक दर्शक दीर्घा से सदन में कूद पड़े और उनके हाथ में कनस्तर थे. इन कनस्तर से पीला धुआं निकल रहा था. उनमें से एक अध्यक्ष की कुर्सी की ओर भागने का प्रयास कर रहा था. वे कुछ नारे लगा रहे थे. धुआं जहरीला हो सकता था. यह सुरक्षा का गंभीर उल्लंघन है. 

गौरतलब है कि संसद भवन में आतंकी हमले की आज बरसी है. 13 दिसंबर 2001 ...आज संसद पर हमले की 21वीं बरसी है. आज के ही दिन 2001 में विश्व के सबसे बड़े लोकतंत्र के मंदिर में आतंकी हमला किया गया था. हमले के वक्त संसद में लगभग 100 संसद और मंत्री मौजूद थे. इस अवसर पर शहीदों को पीएम मोदी ने श्रद्धांजलि दी. अमित शाह, जेपी नड्डा, ओम बिरला पर मौजूद रहे. साल 2001 में आज ही के दिन संसद भवन पर हमला किया गया था. हमले की बरसी पर संसद परिवार में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया. पीएम मोदी ने हमले में शहीद लोगों के परिजनों से मुलाकात की.