Daesh News

यूट्यूबर मनीष कश्यप को सभी मामलों में मिली जमानत, जल्द आ सकते हैं बाहर

आखिकार नौ महीने बाद यूट्यूबर मनीष कश्यप को जमानत मिल गई. महीनों से बिहार की जेल में बंद यूट्यूबर मनीष कश्यप को बिहार हाई कोर्ट अब दो मामलों में जमानत दे दी है. परिवार का कहना है कि जल्‍द ही वो बाहर आ जाएंगे. उसपर राष्‍ट्रीय सुरक्षा कानून के तहत भी मुकदमा दर्ज किया गया था. हालांकि बीते महीने मद्रास हाई कोर्ट ने इस मामले में उसे राहत दे दी थी. पटना हाईकोर्ट से दो मामलों में मनीष को जमानत मिली है. वो कभी भी पटना के बेऊर जेल से बाहर आ सकते हैं. वैसे, गुरुवार को उनकी रिहाई संभव है. मनीष कश्‍यप उर्फ त्रिपुरारी तिवारी पर केवल बिहार ही नहीं बल्कि तमिलनाडु में भी मुकदमे दर्ज हैं. दोनों राज्‍यों की पुलिस ने उसे फेक वीडियो केस में आरोपी बनाया था. मन में सवाल उठना लाजमी है कि आखिर मनीष कश्‍यप है कौंन, जिसे लेकर इस वक्‍त इतनी चर्चा हो रही है. आइये हम आपको उसके बारे में बताते हैं.

आर्थिक अपराध इकाई (EOU) के दो मामलों में पहले से ही मनीष कश्यप को जमानत मिल चुकी है. सिविल कोर्ट से भी सभी मामलों में जमानत मिल चुकी है. इसके बाद से माना जा रहा था कि जेल से रिहाई हो सकती है. उम्मीद है कि वो बेऊर जेल से 21 दिसंबर को बाहर आ सकते हैं.

बता दें कि तमिलनाडु के फेक वीडियो मामले में यूट्यूबर मनीष कश्यप ने 18 मार्च 2023 को सरेंडर किया था. कुछ दिन मदुरई जेल भी रहे. फिर पटना के बेऊर जेल लाए गए. तब से वहीं बंद है. मनीष कश्यप पर तमिलनाडु में बिहार के मजदूरों के साथ मारपीट का फर्जी वीडियो सोशल मीडिया पर शेयर करने का आरोप लगा था.

बिहार पुलिस की आर्थिक अपराध इकाई ने मनीष कश्यप के खिलाफ FIR दर्ज की थी. इस केस में बिहार में जबर्दस्त छापेमारी की गई थी. कई दिनों तक मनीष कश्यप अंडरग्राउंड भी रहे. बाद में बेतिया पुलिस ने 18 मार्च को दूसरे केस में मनीष के घर की कुर्की जब्ती की थी. इसके बाद उन्होंने स्थानीय थाने में सरेंडर कर दिया था.

यूट्यूबर मनीष कश्यप के सरेंडर के तुरंत बाद तमिलनाडु पुलिस की टीम भी पटना पहुंची थी. ट्रांजिट रिमांड पर 30 मार्च को तमिलनाडु पुलिस उसे अपने साथ लेते गई. कुछ दिनों तक मदुरई जेल में भी रहे. अगस्त में बेतिया कोर्ट ने मनीष को बिहार की जेल में ही रखने का आदेश दिया था. तब से ही मनीष कश्यप पटना के बेऊर जेल में है. अब पटना हाईकोर्ट से उनको जमानत मिल गई है.

 मनीष कश्‍यप मूल रूप से बिहार के बेतिया का रहने वाला है. साल 2020 में वो बिहार की चनपटिया विधानसभा सीट से चुनाव भी लड़ा था. वो निर्दलीय उम्‍मीदवार के तौर पर मैदान में थे और उन्‍हें हार का सामना करना पड़ा था. मनीष कश्‍यप के यूट्यूब पर 1.98 मिलियन फॉलोअर्स हैं. उनके चैनल पर करीब ढाई हजार वीडियो हैं. वो बिहार से जुड़े कई सामाजिक मुद्दों पर सालों से मीडियो बना रहे हैं. केवल बिहार में ही नहीं बल्कि हिन्‍दी स्‍पीकिंग बेल्‍ट में उनके वीडियो काफी पसंद किए जाते हैं.