Daesh News

नए साल में मिल सकता है बिजली का झटका, रेट बढ़ाने को लेकर चल रही है तैयारी

एक महीने के बाद नए साल की शुरुआत हो जाएगी. साल बदलने के साथ-साथ कई तरह के अन्य बदलाव भी देखने के लिए मिल सकते हैं. इस बीच खबर झारखंड से है जहां नए साल में राज्यवासियों को बिजली का करारा झटका मिल सकता है. दरअसल, 2024 में  राज्य में बिजली की दरें बढ़ाए जाने की तैयारियां की जा रही है. जानकारी के मुताबिक, करीब 25 फीसदी तक बिजली की दर में बढ़ोतरी की जा सकती है. इसे लेकर झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड ने बिजली की कीमतों में 25 फीसदी तक की वृद्धि का प्रस्ताव झारखंड इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन के समक्ष जमा किया है. 

जनसुनवाई की तारीखें हुई तय

आगे हम आपको यह भी बता दें कि, झारखंड इलेक्ट्रिसिटी रेगुलेटरी कमीशन ने इस प्रस्ताव का अध्ययन कर लिया है और इसे लेकर विभिन्न प्रमंडलों में जनसुनवाई की तारीखें तय कर दी. जनसुनवाई की प्रक्रिया पूरी होने के बाद आयोग नई दरों का अंतिम निर्धारण करेगा. कमीशन ने 11 दिसंबर को मेदिनीनगर, 13 दिसंबर को चाईबासा, 15 दिसंबर को धनबाद, 18 को देवघर और 19 दिसंबर को रांची में प्रस्तावित दरों पर जनसुनवाई का कार्यक्रम तय किया है. अगर सहमती बन जाती है तो अगले साल के अप्रैल महीने से बिजली की नई दरें लागू हो जाएगी.

बिजली दर बढ़ाने का बताया कारण 

दरअसल, झारखंड बिजली वितरण निगम लिमिटेड ने नई दरों को लेकर जो प्रस्ताव दिया है, वह वर्ष 2024-25 के लिए है. वहीं, बिजली के रेट को बढ़ाने को लेकर कहा गया है कि, बिजली वितरण निगम ने कमीशन के समक्ष दिए दिए प्रस्ताव में अपने खर्चों के लिए 10 हजार 800 करोड़ की सालाना जरूरत बताई है और इस आधार बिजली की दरों में बढ़ोतरी की जरूरत बताई है. निगम ने रेवेन्यू रिक्वायरमेंट और मौजूदा रेवेन्यू के बीच 2500 करोड़ का गैप दिखाया है. यहां आपको बता दें कि, इस साल एक जून से झारखंड में बिजली की दरों में 6.50 प्रतिशत तक की बढ़ोतरी की गई थी. हालांकि, यह वृद्धि तीन साल के बाद की गई थी.