Daesh News

दही-चूड़ा भोज के बहाने 'सियासी खिचड़ी' पकाने की कोशिश ! मिल सकते हैं कई सवालों के जवाब

लोकसभा चुनाव 2024 के पहले पूरी तरह से गहमागहमी बनी हुई है. सभी राजनीतिक नेता अपना-अपना दम-खम दिखाने की तैयारी में जुट गए है. इसी क्रम में अब सियासी खिचड़ी पकाने की भी तैयारी की जै रही है. दरअसल, मकर संक्रांति का पर्व आ रहा है ऐसे में तमाम राजनीतिक नेताओं की ओर से दही-चूड़ा के भोज का आयोजन किया जा रहा है. लेकिन, चर्चा है कि चूड़ा-दही भोज के बहाने और भी बहुत कुछ होने वाला है. चुनाव से जुड़े कई मुद्दों पर चर्चा होने की संभावना है. इसी दही चूड़ा भोज पर प्रदेश में सियासी खिचड़ी भी पकने की तैयारी है. हर साल की तरह इस साल भी राजधानी पटना में दही-चूड़ा के भोज का आयोजन कर रहे हैं.

राबड़ी आवास पर दही-चूड़ा का भोज

बात कर लें, बिहार की पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के आवास पर होने वाले दही-चूड़ा के भोज की तो यह 15 जनवरी को आयोजित किया जाएगा. आरजेडी प्रमुख लालू प्रसाद स्वयं इस भोज की तैयारी कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि इस मौके पर 10 क्विंटल से अधिक दही और पांच क्विटल चूड़े की व्यवस्था की जा रही है. इसके अलावा चूड़ा-दही भोज में शामिल लोगों को तिलकुट और आलू-गोभी-मटर की सब्जी भी परोसी जाएगी. चूड़ा-दही भोज के लिए राजनीतिक दिग्गजों के साथ-साथ आम कार्यकर्ताओं को भी न्योता दिया जा रहा है. खासकर मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के इस भोज में पहुंचने की चर्चा जोरों पर है.

बीजेपी नेताओं ने भी कराया भोज

बता दें कि, विधानसभा में विपक्ष के नेता विजय कुमार सिन्हा के आवास पर शुक्रवार को दही चूड़ा भोज का आयोजन किया गया था. इस आयोजन में भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सम्राट चौधरी भी शामिल हुए. इस भोज में अगर चूड़ा दही परोसा गया तो आगंतुकों ने खिचड़ी का भी स्वाद चखा. साथ ही बीजेपी कार्यालय में भी 15 जनवरी को चूड़ा दही भोज का आयोजन किया जा रहा है. भाजपा किसान मोर्चा की ओर से इसका आयोजन किया जा रहा है. इस बीच, भाजपा के नेता और पूर्व मंत्री नितिन नवीन ने भी 13 जनवरी को चूड़ा दही के भोज का आयोजन किया है. इधर, जदयू के राष्ट्रीय महासचिव राजीव रंजन 13 जनवरी को मकर संक्रांति के मौके पर दही- चूड़ा के भोज का आयोजन कर रहे हैं इस भोज में सीएम नीतीश कुमार के अलावा पार्टी के तमाम वरिष्ठ नेताओं के मौजूद रहने की संभावना है.