Daesh News

माफिया मुख्तार अंसारी की गुरुवार देर रात दिल का दैरा आने से हुई मौत .

उत्तर प्रदेश के माफिया मुख्तार अंसारी की मौत हो गई है. मुख्तार अंसारी को बांदा मेडिकल के आईसीयू में भर्ती कराया गया था, जहां 9 डॉक्टरों की टीम उनकी निगरानी कर रहा था. कार्डियक अरेस्ट उनकी मौत की वजह बताई जा रही है. माफिया मुख्तार अंसारी पर 65 से ज्यादा मुक़दमे दर्ज थे. उसे पहली बार सजा 21 दिसंबर, 2022 को हुई थी. वहीं 2 केस में उसे उम्र कैद की सजा हुई थी. 

मुख्तार की मौत के बाद मऊ, गाजीपुर और बांदा की सुरक्षा बढ़ा दी गई है. बांदा मेडिकल कॉलेज के बाहर बड़ी संख्या में पैरा मिलिट्री फोर्स की तैनाती की गई है. मुख्तार के पैतृक घर मुहम्मदाबाद में लोग इकठ्ठा हो रहे हैं. मुख्तार की मौत के बाद मऊ, बांदा और गाजीपुर में धारा 144 लागू कर दी गई है. DGP मुख्यालय ने सतर्कता बरतने के निर्देश दिए हैं. 

मुख्तार का परिवार बांदा के लिए रवाना हो गया है. मुख्तार के छोटे बेटे उमर अंसारी बांदा के लिए रवाना हुए हैं जबकि बड़े बेटे अब्बास अंसारी की पत्नी निखत और अफजाल अंसारी गाजीपुर से बांदा के लिए रवाना हुए हैं. हाईकोर्ट में मुख्तार अंसारी के लिए लड़ने वाले वकील अजय श्रीवास्तव भी बांदा के लिए रवाना हुए.