Daesh News

जब पुलिस का काम करने लगे ग्रामीण, तो भागते हुए पहुंचे अधिकारी..

Darbhanga - शराबबंदी वाले बिहार में खुले आम शराब की तस्करी और निर्माण हो रहा है, शिकायत के बावजूद कई इलाकों में पुलिस लापरवाही बरत रही है यही वजह है कि आम लोग खुद से शराब भट्टी को ध्वस्त कर रहे हैं. ऐसा ही एक मामला दरभंगा जिले मैं देखने को मिला है. जिले के स्ट ने लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ कार्रवाई करने की घोषणा की है.

 मिली जानकारी के अनुसार जिले के फेकला थाना के गोघिया गांव में देशी शराब की भट्टी चलाया जा रहा था। पुलिस से  इसकी शिकायत करने के वावजूद कारवाई होते नहीं देख ग्रामीणों ने खुद से एकजुट होकर तस्कर के घर पर हमला कर शराब की भट्टी को नष्ट कर दिया. शराब भट्टी नष्ट करने का वीडियो भी बनाया गया और उसे सोशल मीडिया पर वायरल कर दिया गया.SSP

दरअसल गांव वालो की माने तो फेकला थाना के गोधिया गांव में लम्बे समय से अवैध देशी शराब की भट्टी चल रही थी और ग्रामीण अपने स्तर से इसकी शिकायत भी लगातार फेकला थाना को कर रहे थे लेकिन पुलिस अवैध शराब कारोबारी के खिलाफ कारवाही करने के बदले इन कारोबारी से पुलिस अवैध उगाही करने लग गयी | धीरे धीरे पुलिस गांव के लगभग सभी शराब करोबारी से महीना हफ्ता बाँध पैसे कमाने लगी तब आखिरकार देर रात ग्रामीणों का गुस्सा भड़क गया और देर रात सैकड़ो की संख्या में ग्रामीण गांव के अवैध शराब भट्टी नष्ट करने लगी. तत्काल स्थानीय थाना को भी इसकी सूचना मिली. मौके पर पहुंची पुलिस को जब ग्रामीण फजीहत करने लगी तो मामला बिगड़ता देख मौके पर दूसरे थाने की पुलिस अतिरिक्त पुलिस बल के साथ पहुंची. और ग्रामीणों से बात कर उनके गुस्सा को शांत किया

इस घटना की पुष्टि खुद दरभंगा  के एसएसपी जगुनाथ रेड्डी ने भी की है.उन्होंने बताया कि पूरे मामले की जांच का जिम्मा सदर SDPO को दिया गया है.जाँच में पुलिस अधिकारी की लापरवाही सामने आई तो उनके खिलाफ जरूर कार्रवाई की जाएगी |

  दरभंगा से तुलसी झा की रिपोर्ट

Scan and join

Description of image